Wednesday, July 6, 2022
HomeCricket Newsरवि शास्त्री की बात मान खत्म किया जा सकता है विवाद, नही...

रवि शास्त्री की बात मान खत्म किया जा सकता है विवाद, नही तो भारतीय क्रिकेट को उठाना पड़ेगा बड़ा नुकसान

टीम इंडिया (Team India) के पूर्व कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने विराट कोहली (Virat Kohli) और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के बीच चल रहे विवाद को ख़त्म करने का तरीका बताया है. साउथ अफ्रीका दौरे से पहले विराट कोहली की वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस ने उनके और बीसीसीआई के बीच काफी तनाव पैदा कर दिया था. विराट ने कांफ्रेंस के दौरान बताया कि, टी20 की कप्तानी नहीं छोड़ने को लेकर उनके साथ किसी ने भी कोई बात नहीं की थी.

जबकि बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने अपने एक बयान में कहा था कि, उन्होंने विराट से कप्तानी नहीं छोड़ने की गुजारिश की थी. हालांकि फिर ये मामला धीरे-धीरे अब शांत होता जा रहा था. तभी चीफ सेलेक्टर चेतन शर्मा (Chetan Sharma) के बयान ने इस विवाद को एक नया रुख दे दिया.

चेतन चौहान के बयान से वापस गरमाया माहौल

भारतीय क्रिकेट के चीफ सेलेक्टर चेतन शर्मा (Chetan Sharma) ने हाल ही में दिए अपने एक बयान में कहा कि, विराट को वनडे टीम के चयन से काफी पहले जानकारी दे दी गई थी. टी-20 विश्व कप से पहले जब हमारी मीटिंग हुई थी, तो हम विराट के कप्तानी छोड़ने के फैसले को सुनकर काफी हैरान रह गए थे. तब हमने उनसे इस पर दोबारा सोचने के लिए कहा था. लेकिन उन्होंने अपना फैसला कर लिया था

वहीं विराट ने वर्चुअल प्रेस कॉंफ़्रेंस मे कहा था कि, उनसे कप्तानी नही छोड़ने की बात किसी ने नही कही थी. अब इस मामले पर पूर्व भारतीय कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने इंडियन एक्सप्रेस से खास बातचीत में अपनी प्रतिक्रिया दी है. साथ ही उन्होंने इस मामले को समाप्त करने का तरीका भी बताया है.

सौरव गांगुली को अपना पक्ष बताने की है जरुरत

टीम इंडिया के पूर्व कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक इंटरव्यू मे विराट कोहली और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के बीच चल रहे विवाद को समाप्त करने का एक बेहतर तरीका बताया है. उनके मुताबिक सौरव गांगुली को इस मामले पर सामने आकर सफाई देने की जरूरत है. शास्त्री (Ravi Shastri) ने इंडियन एक्सप्रेस के ई-अड्डा पर कहा,

इस मसले को बेहतर बातचीत के साथ अच्छे से संभाला जा सकता था. सार्वजनिक रूप से यह बात सामने आने के बजाए, अगर इसे आपस मे सुलझा लिया गया होता तो यह ज्यादा बेहतर होता. विराट कोहली (Virat Kohli) ने इस कहानी का अपना पक्ष बता दिया है. अब बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली को चाहिए कि वो इस पर स्पष्टीकरण दें और अपना पक्ष बताएं. सवाल यह नहीं है कि कौन झूठ बोल रहा है? सवाल यह है कि सच क्या है? हम यह जानना चाहते हैं.

Also Read: ये कप्तान खास है जिसकी कद्र नहीं की गई, विराट कोहली को लेकर पूर्व क्रिकेटर ने दिया बड़ा बयान

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments