Tuesday, July 5, 2022
HomeCricket Newsसौरव गांगुली का नाम एक बार फिर से चर्चा मे, 2007 टी...

सौरव गांगुली का नाम एक बार फिर से चर्चा मे, 2007 टी 20 वर्ल्ड कप को लेकर हुआ बड़ा खुलासा

साल 2007 में टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup 2007) पहली बार खेला गया था. इस पहले एडिशन में टीम इंडिया के 4 सबसे अनुभवी खिलाड़ी सौरव गांगुली (Sourav Ganguly), सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) और जहीर खान ने हिस्सा नही लिया था. इसके बाबजूद महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी मे युवा टीम इंडिया (Team India) ने फाइनल मुकाबले मे पाकिस्तान को हराकर इतिहास रच दिया था. इस टूर्नामेंट में सीनियर खिलाड़ियों के हिस्सा नही लेने के फैसला उनका खूद का ही था. उनका मानना था कि, टी20 क्रिकेट युवाओं का खेल है. हालांकि इस मामले में अब एक सनसनीखेज खुलासा हुआ है .

सौरव गांगुली एक बार फिर से चर्चा मे

बीसीसीआई अध्यक्ष और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) पिछले काफी समय से चर्चा में चल रहे हैं. विराट के saatht चल रही विवाद ने उन्हे काफी हाईलाईट करके रखा है. अब एक बार फिर से उनसे ही जुड़ा एक नया मामला सामने आ रहा है. दरअसल 2007 टी20 वर्ल्ड कप के लिए शॉर्टलिस्ट किए गए 30 खिलाड़ियों मे सीनियर मेंबर, सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली का नाम शामिल नहीं था. उस वक़्त के प्रमुख चयनकर्ता दिलीप वेंगसरकर (Dilip Vengsarkar) ने इसे तीनो के खुद का फैसला बताया था.

मीटिंग से एक दिन पहले मेरे पास राहुल का फोन आया था. जिसमे उन्होंने कहा था कि, उनकी, सचिन और सौरव से बात हो चुकी है और दोनों ने माना कि टी20 युवाओं का खेल है. इसलिए वो इस टूर्नामेंट का हिस्सा नही होना चाहेंगे

हालाँकि अब उसके 15 सालों के बाद उस वक्त के टीम इंडिया के मैनेजर रत्नाकर शेट्टी (Ratnakar Shetty) ने सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) के बारे में नया राज खोला है.

राहुल द्रविड़ और Sourav Ganguly एकराय नहीं थे: रत्नाकर शेट्टी

रत्नाकर शेट्टी (Ratnakar Shetty) ने अपनी किताब On Board: My Years In BCCI में लिखा है कि 2007 टी20 वर्ल्ड कप में खेलने या नहीं खेलने के मसले पर राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) और सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) के विचार एक नही थे. मीटिंग से पहले राहुल द्रविड़ की इस मानते को हुए कि,

“टी20 युवाओं का खेल है. जिसके कारण वो, गांगुली, सचिन और ज़हीर चयन के उपलब्ध नही रहना चाहते है” उन चारों को टीम में शामिल नहीं किया गया. लेकिन बाद में दिलीप वेंगसरकर (Dilip Vengsarkar) ने मुझे बताया कि उनके पास सौरव का कॉल आया था. उन्होंने कहा कि वह चयन के लिए उपलब्ध हैं और उन्हें जो सूचना दी गई वह गलत थी.

हालाँकि इस खुलासे पर गांगुली (Sourav Ganguly) का क्या बयान आता है, इसका सभी को इंतजार रहेगा. वहीं इस किताब से और भी कई खुलासे हमे देखने को मिल सकते हैं.

Also Read: “अपने 4 ओवर पूरा कर और चिल मार” जब धोनी ने चहल को दी थी एक खास सलाह

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments