Wednesday, July 6, 2022
HomeCricket News"क्रिकेट मे रिकॉर्ड्स बनते ही टूटने के लिए है" लेकिन एंडी फ्लॉवर...

“क्रिकेट मे रिकॉर्ड्स बनते ही टूटने के लिए है” लेकिन एंडी फ्लॉवर का ये रिकॉर्ड शायद ही कभी टूटे

Cricket Records: क्रिकेट के खेल में हरेक मैच में कई रिकॉर्ड्स बनते है. वहीं, उसी मैच में कई रिकॉर्ड टूट भी जाते हैं. कहा जाता है कि, क्रिकेट में रिकार्ड्स (Cricket Records) टूटने है इसलिए ये बनते भी है. लेकिन इंटरनेशनल क्रिकेट में अभी भी कई ऐसे रिकॉर्ड मौजूद हैं. जिन्हें तोड़ पाना तो दूर की बात है. उसके पास पहुंचना भी किसी भी खिलाड़ी के लिए संभव नही लग रहा है. आज के इस आर्टिकल में हम आपको एक ऐसे ही रिकॉर्ड के बारे में बताएंगे. जो पिछले 20 सालों से कायम है.

एंडी फ्लॉवर ने अपने नाम किया है एक खास रिकॉर्ड

ज़िम्बाब्वे क्रिकेट टीम (Zimbabwe Cricket Team) के पूर्व कप्तान और दिग्गज खिलाड़ियों में शुमार एंडी फ्लावर (Andy Flower) की गिनती विश्व क्रिकेट के महान खिलाड़ियों में होती है. उन्होंने अपनी शानदार बल्लेबाजी से कई रिकॉर्ड्स अपने नाम किया है. इसी दौरान फ्लावर ने एक ऐसा रिकॉर्ड (Cricket Records) अपने नाम दर्ज करवाया.

जो पिछले 20 सालों से अभी तक कायम है.दरअसल एंडी फ्लावर दुनिया के एकमात्र ऐसे विकेटकीपर बल्लेबाज है, जिन्होंने एक टेस्ट मैच की दोनों पारियों में शतक बनाया हो. उनके अलावा आज तक कोई भी अन्य विकेटकीपर बल्लेबाज किसी एक टेस्ट मैच मे ये कारनामा नही कर पाया है.

दक्षिण अफ्रीका की मजबूत गेंदबाजी आक्रमण के सामने खेली थी दमदार पारी

एंडी फ्लावर ने यह रिकॉर्ड (Cricket Records) दक्षिण अफ्रीका (South African Team) के मजबूत गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ साल 2001 में बनाया था. हरारे के स्पोर्ट्स क्लब (Harare Sports Club) में खेले गए टेस्ट मैच की इस टेस्ट मैच की पहली पारी में एंडी ने 142 और दूसरी पारी में नाबाद 199 रन बनाये थे. दूसरी पारी में वो केवल 1 रन से दोहरा शतक बनाने से चूक गए. क्योंकि ज़िम्बाब्वे की पूरी टीम उससे पहले ही आलआउट हो गयी.

फ्लावर ने अपनी 199 रनों की मैराथन पारी के दौरान 470 गेंदों का सामना किया था. हालांकि, वो अपनी इस शानदार पारी के दम पर भी अपनी टीम को हार से नही बचा पाए थे. ज़िम्बाब्वे को 9 विकेट से एक करारी हार का सामना करना पड़ा था. एंडी फ्लावर ने अपने करियर मे ज़िम्बाब्वे के लिए कुल 63 टेस्ट मैच खेले. जिसमे उन्होंने 51.55 की शानदार औसत से 4794 रन बनाए. इस दौरान उनके बल्ले से 12 शतक और 27 अर्धशतक निकले.

Also Read: “अपने 4 ओवर पूरा कर और चिल मार” जब धोनी ने चहल को दी थी एक खास सलाह

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments